कानून व्यवस्था बनाए रखने के लिए सभी अधिकारी सजग रहें…जिले के शांतिपूर्ण तरीके से अधिकारी जिम्मेदारीपूर्वक करें काम-कलेक्टर

सौरभ द्विवेदी

सूरजपुर.  कलेक्टर रोहित व्यास, पुलिस अधीक्षक एम आर अहिरे ने आज कलेक्टोरेट सभाकक्ष में जिले में कानून एवं व्यवस्था बनाए रखने के संबंध में सभी एसडीएम, एसडीओपी, तहसीलदार, थाना प्रभारी व अन्य जिला स्तरीय अधिकारियों की बैठक ली। कलेक्टर श्री व्यास ने कहा कि जिले में कानून एवं व्यवस्था बनाए रखने के लिए सभी अधिकारी सजग होकर कार्य करें। असामाजिक तत्वों के द्वारा की जाने वाली वारदातों, घटनाओं एवं विवादों पर पैनी नजर रखने कहा। उन्होंने कहा कि किसी भी तरह की असामाजिक एवं अवैध गतिवधियों पर रोक लगाने के लिए तत्काल कड़ी कार्रवाई करें।  जिले में होने वाले अवैध अतिक्रमण तथा अन्य असामाजिक गतिविधियों को नजरअंदाज नहीं करते हुए तत्काल कार्यवाई करें। इसके लिए जिले के सभी एसडीएम एवं एसडीओपी तथा तहसीलदार एवं थाना प्रभारी संयुक्त रूप से समन्वय स्थापित करें एवं सभी आवश्यक सूचनाओं का आदान-प्रदान करें। इसके अलावा उन्होंने जिले के शांतिपूर्ण तरीके से विकास के लिए  टीम वर्क पर विशेष ध्यान देने की आवश्यकता बताई। साथ ही इस अवसर पर डीएफओ श्री पंकज कमल ने जिले में हाथी मानव द्वंद्व एवं अन्य जंगली जानवरों के द्वारा आबादी वाले क्षेत्रों में जनहानि रोकने हेतु उचित कार्यवाही करने एवं इसके लिए हरसंभव प्रयास करने के लिए कहा।इस अवसर पर कलेक्टर श्री व्यास ने कहा कि सभी अधिकारी आम जनता के बीच अपनी विश्वसनीयता बनाएं रखें। जनसमस्याओं के निराकरण के लिए सभी अधिकारियों को आम जनता से सतत रूप से संपर्क बनाए रखने की आवश्यकता है। उन्होंने इसके लिए आपसी समन्वय एवं सहयोग को बेहद जरूरी बताया। उन्होंने भविष्य में आने वाले विभिन्न धर्माे के त्यौहारों के मद्देनजर जिले में शांति व्यवस्था तथा सामाजिक सौहार्द्र कायम रखने के लिए सभी जरूरी उपाय करने के लिए कहा। जिले में कहीं पर सड़क दुर्घटना के कारणों पर ध्यान रखते हुए उनको रोकने के लिए गंभीर प्रयास करने को कहा साथ ही ऐसी घटना पर त्वरित कार्यवाही करते हुए राहत प्रदान करने के लिए कहा। पुलिस अधीक्षक श्री अहिरे ने कहा कि सभी अधिकारी सामाजिक, राजनीतिक, धार्मिक एवं अन्य असामाजिक गतिविधियों की पूर्णतः जानकारी रखें। उन्होंने सामाजिक गतिविधियों में शामिल होने वाले व्यक्तियों के अपराधिक रिकार्ड एवं शिकायत भी अद्यतन करने की आवश्यकता बताई। इसके साथ एसपी श्री अहीरे ने भी सड़क दुर्घटना के कारणों से संबंधित रिपोर्ट की समीक्षा को आवश्यक बताते हुए इसकी  स्थिति को बेहतर करने एवं सड़क दुर्घटना की संख्या में कमी करने के लिए सभी आवश्यक कदम उठाने को कहा। इसके अलावा उन्होंने कहा कि सूचना तंत्र को मजबूत बनाने की जरूरत है। ऐसी कोई भी असामाजिक गतिविधि जो कानून एवं व्यवस्था को प्रभावित कर सकती है, इस पर विशेष ध्यान दें।उन्होंने कहा कि सभी एसडीएम एवं एसडीओपी तथा तहसीलदार एवं थाना प्रभारी संयुक्त रूप से कार्य करें और आपसी सामंजस्य बनाये रखें। जिससे किसी भी घटना एवं चुनौती का सामना करने में आसानी होगी। कलेक्टर एवं एसपी ने कहा कि किसी भी प्रकार की घटना होने पर आम जनता के साथ जिला एवं पुलिस प्रशासन का व्यवहार अच्छा होना चाहिए। पीड़ित पक्ष की समस्या को ध्यान से सुनने एवं उचित कार्यवाही करने की जरूरत है। जिले में शांति स्थापित करना समस्त अधिकारियों की संयुक्त जिम्मेदारी है इसलिए विवाद, झड़प, अतिक्रमण जैसे विवादास्पद परिस्थितियों में जिला एवं पुलिस प्रशासन को आपसी समन्वय के साथ बड़ी मुस्तैदी को साथ कार्य करना होगा। इसके अलावा जिन क्षेत्रो में अपराधिक गतिविधियां बढ़ रही हैं ऐसे स्थानों पर विशेष ध्यान देते हुए गश्ती बढ़ाने की जरूरत है। इस दौरान विभिन्न जनसमस्याओं, उनके समाधान को लेकर आने वाले चुनौतियों  तथा आवश्यक संसाधनों को लेकर बैठक में विशेष रूप से चर्चा की गई। इस अवसर पर अपर कलेक्टर श्रीमती नयनतारा सिंह तोमर, सर्व अनुविभागीय अधिकारी राजस्व एवं तहसीलदार, पुलिस विभाग के आधिकारी सहित अन्य जिला स्तरीय अधिकारी एवं कर्मचारी उपस्थित थे।