चाचा ने रिश्ते को किया शर्मसार, भतीजी के साथ दुष्कृत्य कर हुआ फरार

प्रवेश गोयल

सूरजपुर- बेटियों के साथ आए दिन छेड़छाड़ व दुष्कर्म की घटनाएं सामने आती हैं। इनमें से अधिकांश मामलों के आरोपी रिश्तेदार या जान-पहचान वाले ही होते हैं। ऐसे लोग भरोसे को जहां तोड़ते हैं वहीं ऐसी घटनाएं रिश्ते को शर्मसार करती हैं। ऐसा ही एक मामला अप्रैल माह में सूरजपुर जिले के ग्राम बसदेई से आया था।

यहां सगे चाचा ने अपनी नाबालिग भतीजी को घर में अकेला देखा तो उसके भीतर का शैतान जाग गया। उसने भतीजी से गलत नीयत से छेड़छाड़ की। उसके चिल्लाने पर वह भाग खड़ा हुआ था। नाबालिग ने अपने पिता के साथ चौकी में रिपोर्ट दर्ज कराई थी। इसी बीच पुलिस ने 2 महीने बाद उसे गिरफ्तार करने में सफलता हासिल की है। पुलिस ने शुक्रवार को उसे न्यायालय में पेश किया, जहां से उसे जेल भेज दिया गया। सूरजपुर जिले के बसदेई निवासी नाबालिग लड़की 27 अप्रैल को अपने घर में अकेले थी। इसी दौरान उसका सगा चाचा वहां पहुंचा। भतीजी को अकेला पाकर उसके भीतर का शैतान जाग गया। उसने गलत नीयत से भतीजी का हाथ पकड़कर छेड़छाड़ शुरु कर दी। भतीजी ने चाचा को ऐसा करने से मना किया और शोर मचाने लगी। इस दौरान चाचा उसे वहीं छोड़कर फरार हो गया। जब नाबालिग के माता-पिता घर पहुंचे तो उसने सगे चाचा की करतूत उन्हें बताई। इसके बाद पिता के साथ वह बसदेई पुलिस चौकी पहुंची और चाचा के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कराई। घटना के बाद से आरोपी महेश प्रजापति फरार था। पुलिस ने मामले में धारा 452, 354 व पॉक्सो एक्ट के तहत अपराध पंजीबद्ध किया था। आरोपी की पतासाजी की जा रही थी। इसी बीच मुखबिर की सूचना पर चौकी प्रभारी बसदेई कपिल देव पाण्डेय व उनकी टीम द्वारा आरोपी को ग्राम भैसामुण्डा के अटल चौक के पास से गिरफ्तार किया गया। पुलिस ने उसे उपरोक्त धाराओं के अंतर्गत न्यायालय में पेश किया, जहां से उसे जेल भेज दिया गया। आरोपी को पकडऩे में प्रधान आरक्षक आनंद सिंह, आरक्षक अमरेन्द्र दुबे व प्रदीप साहू सक्रिय रहे।