दो लाख रूपये के साथ सोने की मोहर लुटने वाले लुटेरे हुए गिरफ्तार

सूरजपुर-सूरजपुर के रामानुजनगर थाना क्षेत्र के गोकुलपुर की महिला को खेत मे जेसीबी चलाकर ठीक करने के नाम से 2 लाख रुपये के साथ सोने की मोहर लुटने के मामले मे पुलिस ने लुट के माल सहित दो आरोपियो को गिरफतार किया है,दरअसल गोकुलपुर की रहने वाली फुलसुन्दरी के पास दो लोग आकर खेत बनाने की बात कहते हुये काम शुरू कर  दिया आरोपियों ने खेत बनाना शुरू किये और दिनांक 24/05/18 को सुबह 9 बजे जेसीबी का डीजल खत्म हो गया है कहकर पैसा की मांग किये जिस पर प्रार्थी द्वारा पैसे नहीं होने पर बैंक से निकालने की बात कहने पर दोनों अज्ञात आरोपियों द्वारा प्रार्थी एवं उसके पति को काले रंग के प्लसर मोटर सायकल से सेन्ट्रल बैंक रामानुजनगर लाकर दो लाख रूपये खाता नंबर 2281284281 से निकलवाकर एवं प्रार्थियां द्वारा गले में पहने सोने का मोहर कीमती 20 हजार रूपये को डरा धमकाकर निकलवाकर ले गये कि रिपोर्ट पर थाना रामानुजनगर में अपराध क्रमांक 78/18 धारा 417, 384, 34 भादवि कायम कर विवेचना में लिया गया। रिपोर्ट दर्ज करने पश्चात् पुलिस महानिरीक्षक सरगुजा रेंज श्री हिमांशु गुप्ता, पुलिस अधीक्षक सूरजपुर श्री जी.एस.जायसवाल, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक श्रीमती मेघा टेंबुलकर एवं एसडीओपी प्रेमनगर श्रीमती चंचल तिवारी के निर्देशन एवं मार्गदर्शन पर मामले की गंभीरता को देखते हुये थाना रामानुजनगर एवं स्पेशल पुलिस टीम की संयुक्त टीम बनाकर टेक्निकल सहयोग लेकर लगातार अज्ञात आरोपियों की पतासाजी किया गया। ठोस सुराग मिलने पर संयुक्त टीम को जिला बाराबंकी उत्तरप्रदेश भेजकर आरोपियों के ठिकाने पर दबिश देकर घेराबंदी कर पकड़ा गया एवं आरोपी (1) जब्बार खान पिता अब्दुल अजगर उम्र 48 वर्ष (2) असलम खान पिता बिस्मिल्ला खान उम्र 38 वर्ष दोनों निवासी ग्राम बिलौली जगदीशपुर, चैकी इसरौली, थाना फतेपुर, जिला बाराबंकी उत्तरप्रदेश के कब्जे से दो लाख रूपये, 01 नग सोने का मोहर कीमती 20 हजार रूपये, 01 नग प्रकरण में प्रयुक्त मोबाईल को बरामद कर जप्त किया गया है एवं आरोपियों को गिरफ्तार कर माननीय न्यायालय पेश की जाती है।
आरोपीगण द्वारा पूछताछ पर इस तरह की घटना पूर्व में दिनांक 17/01/18 को थाना उदयपुर, जिला सरगुजा क्षेत्रान्तर्गत 05 लाख रूपये एवं दिनांक 24/05/18 को बैकुण्ठपुर जिला कोरिया में 30 हजार रूपये का जेसीबी मशीन से काम कराने की बात कर ठगी का अपराध करना स्वीकार किये है। इनका मूल निवासी के स्थान के लोग ज्यादातर इसी अपराध में संलिप्त है जो छत्तीसगढ़ के विभिन्न जिलों में घुमकर गांव के भोले-भाले आम जनता को गुमराह कर नगदी रकम का ठगी कर फरार हो जाते है। इन अरोपियों से पूछताछ पर महत्वपूर्ण सुराग मिला है जिसके आधार पर आगे कार्यवाही लगातार जारी रहेगा।
उक्त कार्यवाही में थाना प्रभारी रामानुजनगर रामेन्द्र सिंह, एसआई निर्मल वर्मा, निलाम्बर मिश्रा, एएसआई विराट विशी, माधव सिंह, प्रधान आरक्षक गुड्डू कुशवाहा, आरक्षक मोहम्मद अकरम, देवदत्त दुबे, रावेन्द्र पाल एवं स्पेशल पुलिस टीम प्रभारी सरफराज फिरदौसी, प्र.आर. बिसुनदेव पैकरा, आरक्षक विकास पटेल, सतेन्द्र दुबे एवं महेन्द्र प्रताप सिंह सक्रिय रहे।