महिला एसडीएम ने मोटर सायकल ड्राइव कर अवैध रेत खनन स्थल पहुँची रेत माफियाओं में हड़कम्प,,,

सचिन तायल

प्रतापपुर / भैयथान अवैध रेत खनन का मामला विधानसभा मैं उठने के बाद जब जिले के नव पदस्थ कलेक्टर दीपक सोनी ने गौण खनिज के अवैध उत्खनन और परिवहन पर अंकुश लगाने कड़ी कार्रवाई के निर्देश दिए तो सूरजपुर एसडीएम के साथ-साथ भैयाथान की महिला एसडीएम ज्योति सिंह भी एक्शन में आ गई। उन्होंने पहले दिन तो छापामारी अपने शासकीय वाहन से की लेकिन तस्करों के मुखबिर से जानकारी लीक हो जाने के कारण वे शासकीय वाहन की बजाय  बाइक चला कर खुद उत्खनन स्थल पर पहुंच गई ।
गौरतलब है कि प्रदेश के मुख्यमंत्री ने खनन नीति में बड़ा बदलाव की घोषणा की और कहा है कि प्रदेश में रेत खनन पंचायत नही बल्कि सीएमडीसी करेगी उसी आदेश के बाद से सूरजपुर कलेक्टर दीपक सोनी के निर्देशन में आज भैयाथान एसडीएम ज्योति सिंह के नेतृत्व में रविवार को टीम अवैध रूप से रेत परिवहन में लगे दो ट्रैक्टर को जब्त कर थाने में खड़ी कर दी है।रेत माफिया रेड़ नदी से रेत का अवैध उत्खनन कर भैयाथान के सहित अन्य ग्रामीण क्षेत्रों में खपाए जाने की शिकायत पिछले कई दिनों से आ रही थी, इस क्षेत्र में एक भी रेत खनन स्वीकृत नहीं है, इसके बावजूद नदी क्षेत्र में रेत उत्खनन कर ट्रैक्टरों से धड़ल्ले से परिवहन कराया जा रहा था। शिकायत पर प्रतापपुर मार्ग पर एसडीएम ज्योति सिंह के नेतृत्व में टीम ने कार्रवाई शुरू की थी और रेत परिवहन में लगे दो ट्रैक्टर पकड़ी, जिसका की रेत परिवहन के लिए उनके पास कोई वैध दस्तावेज नहीं था।  *मुखबिरी के कारण बाइक से पहुंचे *
एसडीएम ज्योति सिंह ने बताया कि जब भी प्रशासनिक दल अवैध रेत खनन पर पहले भी छापामार कार्रवाई किये उसके लिए सरकारी वाहनों से जाते थे, दल के पहुंचने के पहले ही मुखबिरी हो जाने के कारण धरपकड़ नहीं हो पाती थी। रेत माफिया एवं उनके वाहन चालक कार्रवाई से पहले ही भाग जाते थे। इसलिए बाइक से जाकर छापामार कार्रवाई की है। वाहन चालकों एवं रेत माफियाओं का मोबाइल नेटवर्क तगड़ा रहता है। अधिकारियों की टीम के मौके पर पहुंचने से पहले ही यह सतर्क हो जाते हैं। खनन एवं परिवहन को छोड़कर भागने में सफल हो जाते हैं। जिससे धरपकड़ एवं कार्रवाई नहीं हो पाती है।