*नए आईजी केसी अग्रवाल ने संभाला पदभार जनता और पुलिस का रिश्ता दोस्त की तरह हो*

*सचिन तायल

प्रतापपुर* पुलिस आज के समय जनता की दोस्त बनकर रहना चाहती है जनता को लगना चाहिए कि पुलिस हमारी दोस्त है। किसी पुलिस अधिकारी के लिए कोई एक काम प्राथमिकता में नहीं होता है। हर रोज उसके लिए एक नई चुनौती की तरह होता है। उसके आधार पर वह अपना काम तय करता है। वर्तमान में लोकसभा चुनाव उनके सामने है संभाग में अनुभवी अधिकारियों की टीम है। शांतिपूर्ण चुनाव कराना हम सबका दायित्व है। उक्त बातें मंगलवार को सरगुजा रेंज के नये आईजी केसी अग्रवाल पदभार ग्रहण करने के बाद कहीं सरगुजा रेंज के नवनियुक्त आईजी केसी अग्रवाल ने मंगलवार को पदभार ग्रहण करने के बाद महानिरीक्षक कार्यालय में पत्रकारों से चर्चा करते हुए कहा कि पुलिस की हम प्राथमिकता तय नहीं कर सकते हैं। रोज एक चुनौती होती है, उसी में हमारी प्राथमिकता होती है। सरहदी क्षेत्र में अभी भी माओवादी पहुंचते हैं, उसे लेकर कहा कि पूर्व में अधिकारियों ने जो गाइडलाइन अब तक तय की है, उसी पर काम करना है उन्होंने जो अब तक मार्ग तय किया है, उसके परिणाम अच्छे आए हैं। पूर्व आइजी हिमांशु गुप्ता ने कई काम ऐसे किए हैं,जो काबिले कारीफ है उनके कार्यकाल की जितनी प्रसंसा की जाय कम होगी उन्होंने जो पौधा लगाया है, उसे मैं सींचने का काम करूंगा।
उनके द्वारा जो भी काम किए गए हैं उन्हें बंद नहीं किए जाएंगे। वही दशा दिशा में चलते रहेंगे। इस दौरान एसपी सदानंद कुमार, सूरजपुर एसपी गिरजा शंकर जायसवाल, बलरामपुर एसपी पीआर कोशिमा, कोरिया एसपी विवेक शुक्ला उपस्थित थे अभी लोकसभा चुनाव होना है और शांतिपूर्ण ढंग से इसे निपटाया जाए यह मेरी सोच है। मेरे पास एक अनुभवी टीम है, जिन्होंने अभी-अभी विधानसभा चुनाव संपन्न कराने में काफी अहम भूमिका निभाई है। वैसे भी लोकसभा चुनाव में काफी मेहनत नहीं करनी होती है पर पुलिस अपना काम जवाबदारी से करेगी लेकिन अभी पुलिस के सामने यह सबसे बड़ी चुनौती है मैं अपने अफसरों के पीछे खड़ा रहने वाला व्यक्ति लॉ एण्ड ऑर्डर पर उन्होंने कहा कि मेरी सोच है कि फील्ड पर पुलिस अधीक्षक व उनकी टीम काम करती है। मैं अपने अफसरों के पीछे खड़ा रहने वाला व्यक्ति हूं। उन्होंने कहा कि मेरी सोच है कि पुलिस जनता की दोस्त होती है और जनता को लगना भी चाहिए कि पुलिस उनकी दोस्त है
केसी अग्रवाल आई जी
मेरी सोच है कि टीम एक अच्छे पुलिसिंग कर आपसी ताल मेल के साथ ईमानदारी से काम करे। परिणाम की चिंता न करें