शहर में बच्चा चोर की सक्रियता की फैली अफवाह

वायरल मैसेज और अफवाह की जांच के लिए जनप्रतिनिधियों ने प्रशासन से की मांग

प्रवेश गोयल

सूरजपुर-मध्यप्रदेश के शहडोल और छत्तीसगढ़ के चिरमिरी में बच्चों को पकड़कर उसके कलेजे और किडनी निकालने की फैली अफवाह का असर बीती रात सूरजपुर में भी दिखाई दिया, नगर के वार्ड क्रमांक 7 में बच्चे पकड़ने वाले गिरोह आने की अफवाह से पूरी रात वार्ड वासी चिंतित रहे और अपने-अपने घर के सामने लाठी डंडा लेकर रतजगा करते रहे।

गौरतलब है कि WhatsApp और सोशल मीडिया में अफवाह तेजी से फैल रही है कि क्षेत्र में बच्चे पकड़ कर उनकी किडनी और कलेजे को निकाल लेने वाला गिरोह सक्रिय है लेकिन इस बात की पुष्टि कहीं नहीं हो रही है पुलिस प्रशासन भी इसे एक सिरे से नकार चुका है इसके बावजूद नगर के वार्ड क्रमांक 7 एवं वार्ड क्रमांक 12 में इस अफवाह को लेकर वार्ड वासी सकते में है शाम 7  बजे के बाद लोग घर से निकलने से परहेज कर रहे हैं, अपने बच्चों को घर से बाहर न जाने देने के लिए सारे जतन और उपाय कर रहे हैं। बीती रात वार्ड क्रमांक 7 में एक गजब का नजारा देखने को मिला, समूचे वार्ड वासी संगठित होकर मैदानी इलाके में खड़े हो गए और बताए कि कुछ संदिग्ध लोग यहां आए थे 4 की संख्या में थे और बच्चों पर उनकी नजर भी देखने में भयानक और आंखें डरावनी थी, जैसे ही यह खबर वार्ड में फैलने लगी वैसे ही लोगों का मजमा वहां लगने लगा, लोग तो अपने घर के सामने डंडे लाठी और हथियार लेकर डटे रहे, रात भर यह नजारा वार्ड नंबर 7 में देखने को मिला।

 यहां के पार्षद और नेता प्रतिपक्ष गॆविनाथ साहू ने बताया कि मंडी रोड में एक महिला दुकान का संचालन करती है उसकी दुकान में दरवाजा खुलवा कर कुछ संदिग्ध लोग सामान लेने का बहाना बनाया और इधर उधर जाने लगे जिसकी सूचना उसने आस-पास के लोगों को दी, लोगों ने उन लोगों का पीछा किया लेकिन वह भागने में सफल हो गए उन्होंने इसकी सूचना पुलिस को दी और मौके पर पुलिस टीम भी पहुंची उन्होंने स्थानीय वार्ड वासियों को समझाइश दी और मोबाइल नंबर साझा किया कि यदि वार्ड में किसी भी प्रकार के संदिग्ध लोग घूमते हैं तो इसकी सूचना तत्काल दें।

प्रशासन को साफ करनी चाहिए स्थिति

क्षेत्र में बच्चा चोर गिरोह के सक्रिय होने और उस गिरोह के द्वारा शरीर के महत्वपूर्ण अंगों को निकालकर बच्चों को मौत के घाट उतार देने से संबंधित WhatsApp मैसेज और फोटो व वीडियो वायरल होने से क्षेत्र में दहशत का माहौल बन गया है इन माहौल से सशंकित क्षेत्रवासी रतजगा करने के लिए मजबूर है ऐसे में इस वायरल मैसेज के सच की जांच करना प्रशासन का कर्तव्य है नगरपालिका के उपाध्यक्ष अजय अग्रवाल ने कहा कि प्रशासन को इसके लिए जागरूकता अभियान चलाना चाहिए और वायरल का सच क्या है इसे स्पष्ट करना चाहिए लोगों के अंदर भय का वातावरण निर्मित हो रहा है और इस भय को खत्म करना शासन-प्रशासन का कर्तव्य है।

वायरल का सच लाए जनता के सामने

नगर पालिका के नेता प्रतिपक्ष एवं पार्षद गॆविनाथ साहू ने कहा कि अफवाह के कारण नगर के विभिन्न वार्डों में दहशत का माहौल है लोग दिन और रात बच्चों की चिंता में डूबे रहते हैं आलम यह है कि लोग रतजगा कर रहे हैं हथियार लैस होकर थोड़ी सी भी आहट में वार्ड वासी अलर्ट हो जा रहे हैं । इस तरह के दहशत पूर्व वातावरण में कभी भी कुछ भी गंभीर हादसा हो सकता है  प्रशासन इस वायरल मैसेज के सच को सामने लाएं और जनता के भय का निराकरण करें।