शेर ए प्रेमनगर की बेटी ने भरी राजनीतिक हुंकार

प्रवेश गोयल

बेटी संभालेगी पूर्व राज्य मंत्री तुलेश्वर सिंह की राजनीतिक विरासत
कांग्रेस की राजनीतिक में सक्रिय हुई बेटी शशि सिंह
कहा पिता के अधूरे सपनों को कांग्रेस में रहकर करूंगी पूरा
सूरजपुर- जैसे- जैसे विधानसभा चुनाव करीब आता जा रहा है वैसे- वैसे प्रेमनगर विधानसभा क्षेत्र की राजनीतिक गतिविधियों में नये समीकरणों का उदय होता जा रहा है। क्षेत्र में कांग्रेस का हाथ मजबूत करने पूर्व विधायक तुलेष्वर सिंह की पुत्री शषि सिंह ने कांग्रेस की राजनीति में खुद को सक्रिय करते हुए सबको चौका दिया है। शशि का कहना है कि वह अपने पिता पूर्व मंत्री तुलेष्वर सिंह की राजनीतिक विरासत संभालेंगे और नेता प्रतिपक्ष टीएस सिंहदेव के प्रति आस्था रखते हुए कांग्रेस द्वारा सौंपी गई किसी भी जिम्मेदारी का पूरी ईमानदारी से निर्वहन करेंगे।
गौरतलब है कि पूर्व राज्य मंत्री तुलेष्वर सिंह की छवि क्षेत्र में तेज तर्रार की नेता के रूप में रही है, अपनी इसी तेज तर्रार छवि के कारण उन्हें क्षेत्र में शेर ए प्रेमनगर के रूप में पहचाना जाता था, उनके निधन के बाद तुलेष्वर सिंह समर्थकों में मायूसी देखी जा रही थी। मंगलवार को अपनी मॉ पुष्पकला सिंह और दोनों भाई सतवंत सिंह व बलवंत सिंह के साथ सूरजपुर के विश्राम गृह में पुत्री शशि सिंह ने पत्रकारों के समक्ष अपनी बातें बहुत ही सहजता के साथ रखते हुए कहा कि पिता तुलेष्वर सिंह ने लम्बे समय तक क्षेत्र की सेवा की है और क्षेत्र की जनता तुलेष्वर सिंह के परिवार की ओर उम्मीद भरी निगाहों से देख रही है। कांग्रेस में रह कर कांग्रेस को मजबूत करने और लोगों की सेवा करना ही लक्ष्य मात्र है। वे अपने स्व पिता तुलेष्वर सिंह के अधूरे सपनों को पूरा करना चाहते है।


पढ़ाई पूरी होते ही शशि कुद गई राजनीति में
पूर्व राज्य मंत्री तुलेष्वर सिंह की पुत्री शशि सिंह ने बीकॉम और ईंटीरियर डिजाईजनर की पढ़़ाई दिल्ली और रायपुर से पूरी करने के बाद क्षेत्र में जन सम्पर्क किया और मिले जन समर्थन से उत्साहित होकर स्वयं को अपने पिता का राजनीतिक उत्तराधिकारी के रूप में प्रोजेक्ट करते हुए कांग्रेस की राजनीति में सक्रिय कर लिया। उन्होंने पत्रकारों से मुखातिब होने से पूर्व उन्होंने अपने दादा खेल साय सिंह और नेता प्रतिपक्ष टीएस सिंहदेव से आशीर्वाद  और मार्गदर्षन प्राप्त कर लिया है।
पिता ने कांग्रेस में ली अंतिम सांस इसलिए हम भी कांग्रेस में
कांग्रेस की राजनीति में सक्रिय होने के बाद शशि सिंह ने बताया कि वह कांग्रेस में क्यों है, उसने कहा कि उनके पिता स्व तुलेष्वर सिंह ने अंतिम सांसें कांग्रेस में रहते हुई ली थी और दादा खेल साय सिंह कांग्रेस से ही विधायक हैं, कांग्रेस का कोई विकल्प नहीं है, हमारी विचारधारा कांग्रेसी विचारधारा है। कांग्रेस के वरिष्ठजनों और राजनेताओं ने भी हमें पूरा समर्थन और प्यार दिया है। इसलिए कांग्रेस में रहकर ही पिता के सपनों को साकार करेंगे।
रेणुका से भी लेना है पिता के हार का बदला
पूर्व राज्य मंत्री तुलेष्वर सिंह की पुत्री शशि सिंह ने पत्रकारों से चर्चा करते हुए बेबाक अंदाज में कहा कि यदि भाजपा रेणुका सिंह को टिकिट देती है तो वह चाहेगी कि कांग्रेस शषि सिंह को टिकिट दे, ताकि शषि सिंह अपने पिता की हार का बदला ले सके। वह पिता के सारे सपने साकार करना चाहती है।