थप्पड कांड की जांच हुई शुरु, पहुची कमिश्नर…पिडितो के लिये गये बयान…पूर्व कलेक्टर के विरुद्ध कार्यवाही की पिडितो ने की मांग…थप्पडबाज एसडीएम पर अभी तक कोई कार्यवाही नही….

सूरजपुर. जिले मे थप्पड कांड की जांच करने पहुची सरगुजा संभाग की कमिश्नर सुश्री जी. किण्डो ने आज स्थानिय सर्किट हाउस में पिडितो के बयान दर्ज कराये. पिडितो के साथ शनिवार को पूर्व कलेक्टर रणबीर शर्मा के द्वारा जो मारपीट की गई थी उसको संभागायुक्त के समक्ष पुरा ब्योरा दर्ज कराये गये और पुलिस व प्रशासन को सौपे शिकायत पत्र के अनुसार पूर्व कलेक्टर के विरुद्ध कार्यवाही की मांग की. उल्लेखनीय है की गत 22 मई को तत्कालीन कलेक्टर रणवीर शर्मा अपने दल बल के साथ लाक डाउन का पालन कराने निकले थे नगर के सुभाष चौक पर जांच के दौरान वे अपना आपा खो बैठे और लोगो से बगैर उनकी सुने डंडो की बरसात करते व कराते रहे इसी दौरान उन्होने पिडित अमन मित्तल से बदतमीजी करते हुये उसका मोबाईल को छिनकर सडक पर पटक कर तोड दिया और आवेश इतना बढा कि नवयुवक पर एक झन्नातेदार थप्पड लगा दिये और अपने अंगरक्षक व अन्य पुलिसकर्मियो से डंडो की बरसात करा दिया. किन्तु श्री शर्मा को इस बात तनिक भी एहसास नही था कि यह घटना इतनी बडी हो जायेगी कि उनकी कलेक्टरी तक छिन जायेगी. मिडिया और सोशल मिडिया की बदौलत देखते देखते पुरे देश भर में यह घटना सुर्खियों में बना रहा और प्रदेश के मुख्यमंत्री को रणबीर शर्मा की छुटटी करनी पड गई. आज इसी घटना की जांच पडताल करने सरगुजा संभाग की कमिश्नर सुश्री जीं. किण्डो पहुची. स्थानीय सर्किट हाउस में जिले के कलेक्टर गौरव कुमार सिह सहित अन्य प्रशासनिक अधिकारियों के साथ थप्पड कांड के दुसरे सहयोगी एसडीएम प्रकाश सिह राजपुत की मौजुदगी में पिडित अमन मित्तल एवं नाबालिक को उसके अभिभावक के साथ बुलाया गया जहा पर सुश्री किण्डो ने दोनो से अकेले में पुछताछ कर पुरी घटना की जानकारी ली और उनके बयान दर्ज कराये.

थप्पड़ मारते कलेक्टर

थप्पड कांड के पिडित अभी भी है दहशत में
नगर में हुये थप्पड कांड की गुंज से पुरा देश हिल गया था किस कदर एक प्रशासनिक अधिकारी ने अपने अधिकारो का दुरुपयोग आम जनता के साथ किया गया. जिसकी देश भर में निंदा की गई तो वही पिडित आज भी उस घटना को याद कर सिहर जाते है पुरा परिवार उनका दहशत में है मिडिया व सोशल मिडिया की ताकत की बदौलत जिले के डीएम तो तत्काल हटा दिये गये पर उनके विरुद्ध आज तक कोई ठोस कार्यवाही ना होने से वे अभी उनके दिल में भय व्याप्त है.
पिडित को दिया गया मोबाईल में भी हुआ घाल-मेल
प्रदेश के मुख्यमंत्री के द्वारा दिये निर्देश के बाद पिडित अमन मित्तल को पूर्व कलेक्टर के द्वारा मोबाईल अवश्य उपलब्ध कराया गया किन्तु अमन उस मोबाईल को लेने के लिये ही राजी नही था क्योकि उसका जो मोबाईल तोडा गया था वह 17 हजार रुपये का था और उसे जो मोबाईल दिया गया है वो मात्र सात हजार पांच सौ रुपये का है. अमन को घटना के अगले दिन बताया गया था कि उसे अन्य कई संगठन भी भेट स्वरुप मोबाईल देने वाले है किन्तु उसे अन्य कोई मोबाईल प्राप्त नही हुये है.

थप्पडबाज एसडीएम

थप्पड कांड के कलेक्टर की जांच शुरु तो वही थप्पड मारने वाले एसडीएम पर अब तक कोई कार्यवाही भी नही
भैयाथान एसडीएम प्रकाश सिह राजपुत पूर्व कलेक्टर रणबीर शर्मा के एक कदम आगे चलते हुये कई युवको से उठक बैठक कराये इस दौरान उन्होने ने भी एक युवक को थप्पड रसीद कर पुलिस डंडे बरसवाये. जिसका विडियो भी सोशल मिडिया में जमकर वायरल हुआ. प्रदेश के मुख्यमंत्री ने बिना किसी देरी के जब कलेक्टर को तत्काल पद से हटा दिया तो थप्पड कांड के बराबार के सहयोगी एसडीएम पर कार्यवाही क्यो नही. ये कलेक्टर से भी ज्यादा पावर फुल है. आज की जांच में थप्पडबाज एसडीएम मौजुद रहे जिससे कमिश्नर की जांच में भी प्रभावित होने की आशंका पिडितो ने व्यक्त की है.