जंगल विभाग में जंगल राज…वन विभाग को पता तक नही की चोरी हुई…ग्रामीणो ने चोरी के समान के साथ चोरो की जानकारी विभाग को दी…पुलिस ने चोरी का माल को किया बरामद…जंगल विभाग अपराध दर्ज करने से कतरा रही…

राजेश सोनी
सूरजपुर. जिले के जंगल विभाग में जंगल का ही राज चल रहा है. डीएफओ से लेकर रेंजर तक के पद पर प्रभारियों से काम चलाया जा रहा है. तो वही विभाग की लचर व्यव्स्थाओ से ग्रामीणो के साथ विभाग के लोग परेशान है. विभाग को नही मालुम की उसके द्वारा किया जा रहा निमार्ण स्थल से सामानों की चोरी भी हुई है बहरहाल विभाग सिर्फ मुकदर्शक बना हुआ है. जिले के वन परिक्षेत्र बिहारपुर के अधिकारी किस कदर लापरवाह गैरजिम्मेदार है कि उनके कार्यालय से छड पाईप की चोरी हो गई विभाग को पता ही नहीं चला. ना तो अपराध दर्ज कराई ना ही पुलिस के बुलाने पर थाने पहुचकर अपराध दर्ज कराने की जहमत उठा रहे. जबकि पुलिस ने चोरी का माल को जप्त कर पुलिस थाने ले गई है. प्राप्त जानकारी के अनुसार बिहारपुर वन परिक्षेत्र के महुली मे 2019 में आवास का निर्माण वन विभाग द्वारा किया जा रहा था. निर्माण के दौरान छड,सीमेंट,पाईप, रेत सहित अन्य सामाग्री मगवाये गये. निर्माण के दौरान सीमेंट और छड को वनपाल कार्यालय में रखा गया था. विभाग ने आधा अधुरा निर्माण कर छोड दिया जिसके फल स्वरुप बीते एक अगस्त से 5 तारीख के बीच चोरो ने छड को चोरी कर बेच दिया. इसका खुलासा गांव के ग्रामीण रामनरेश साहु ने किया जब उनकी तेदुपत्ता फड से कोल्हुआ (ब) से तीरपाल की चोरी हो गया था जिसकी खोज खबर पतासाजी करने पर उनको पता चला कि गांव के तीन लोग छत की ढलाई में उपयोग करने वाली 10 एमएम,8 एमएम का छड कोल्हुआ के एक ग्रामीण को बेच रहे है. अपने चोरी हुई तीरपाल को पाने के लिये रामनरेश ने चोरी का छड खरीदने वाले ग्रामीण के घर जाकर देखे की वहा पर 2 नग तिरपाल, 5 बंडल छड पडा हुआ है पतासाजी के दौरान चोरी का माल खरीदने वाले ने श्री साहु को पुरी बात बताई. तो उन्होने पतासाजी करते हुये महुली वन विभाग कार्यालय पर आकर देखे की कार्यालय का पीछे का दरवाजा टुटा हुआ है जिसमें विभाग ने निर्माण सामाग्री रखी हुई थी. पुरे मामले की सुचना वन विभाग के साथ बिहारपुर चांदनी थाने को देने पर मौके पर पहुचे वन कर्मचारी व पुलिस ने चोरी हुये स्थल का निरिक्षक कर पुलिस ने चोरी की गई छड को खरीदने वाले ग्रामीण से बरामद कर थाने ले गई है तो वही वन विभाग ने इस पुरे मामले को लीपापोती करने में लगी है सिर्फ लिखित सुचना देकर अपना कर्तव्य की इतिश्री कर ली.तो वही मौके की नजाकत देखते हुए चोर भी भूमिगत हो गये है.

आधा अधुरा निर्माण स्थल

चोर और उसके खरीददार भी पता है लेकिन अपराध दर्ज नही
चोरी किसने की और चोरी का माल किसने खरीदा सब कुछ दुध की तरह सफेद है पर विभाग के उदासीन रवैया से चोरो के हौसले बुलंद है. बिहारपुर चांदनी थाना प्रभारी शिव कुमार खुटे ने बताया कि चोरी किये गये छड को बरामद कर लिया गया है वन विभाग के अधिकारियों को कई बार थाने में बुलाया गया लेकिन वे लोग नही आ रहे है. जिससे अपराध दर्ज किया जा सके.
इस पुरे मामले में बिहारपुर रेंज के परिक्षेत्राधिकारी मेवालाल ने बताया कि निर्माणधीन स्थल से 12 बंडल छड की चोरी हुई है जिसकी लिखित सुचना पुलिस को दिया गया है.