अपना प्लांट उखाड कर ले जाओ…6 महिने से सौर प्लांट है ठप्प…गांव की महिलाये सोशल मिडिया में विडियो बनाकर केड्रा विभाग की खोली पोल…कहा जब व्यव्स्था ठीक नही कर सकते तो अपना प्लांट उखाड कर ले जाओ…

पप्पु जायसवाल
बिहारपुर. जब ठीक नही कर सकते तो अपना प्लांट उखाड कर ले जाओ. क्यो खराब पुराना बैटरी लगाते हो. नही चाहिये ऐसी घटीया व्यव्स्था. पहले भी अंधेरे में रहते थे, अब भी रह रहे है, और आगे भी रहेगे. ले जाओ अपना प्लांट उखाडकर केड्रा वाले. 6 माह से सौर प्लांट ठप्प पडे गांव रामगढ के महिलाओ के बोल है जो सोशल मिडिया में सुर्खिया बना हुआ है. बेहद गुस्से में गांव की महिलाओ ने केड्रा विभाग के लापरवाही गैरजिम्मेदारी रवैया तो वही कलेक्टर से भी किये गये शिकायत का समाधान नही होने पर ठप्प पडे प्लांट की विडियो आडियो बनाकर सोशल मिडिया में वायरल कर दिया गया है. प्राप्त जानकारी के अनुसार ओडगी ब्लाक के रामगढ के ग्रामीण केड्रा विभाग के गैरजिम्मेदारी व लापरवाही का खामियाजा भुगत रहे है गांव बिजली विहिन होने पर यहा पर केड्रा विभाग के द्वारा लगाया गया सौर प्लांट 6 महिनो से ठप्प पडा हुआ है.जिससे 60 घर प्रभावित है. ठप्प पडे प्लांट की जानकारी ग्रामीणो ने विभाग को कई बार दिया था पर विभाग मुकदर्शक बने रहने पर बिहारपुर में कलेक्टर के जन चौपाल में ग्रामीणो ने लिखित शिकायत कर ठीक करने की गुहार लगाई थी. लेकिन विभाग के अधिकारियों के उदासीन रवैया तो वही जिला प्रशासन के सुस्त कार्यप्रणाली से नाराज गांव के महिलाओ ने पुरे मामले का विडियो बनाकर सोशल मिडिया में वायरल कर दिया है. वायरल विडियो में बताया गया है कि केड्रा विभाग द्वारा 6 माह पहले पुराना बैटरी लगाया गया था जो एक दिन भी नही चला. कई बार सुचना भी दिया गया. फिर भी ध्यान नही दिया. नही बना सकते तो यहा से प्लांट को उखाडकर ले जाये.

इसकी टोपी उसका सर
केड्रा विभाग ग्रामीणो की परेशानी को दुर करने के बजाये बैटरिंयों की अदला बदली पर लगा हुआ है एक प्लांट की बैटरी को निकाल कर दुसरे प्लांट में लगाकर काम चलाया जा रहा है. जिससे ग्रामीणो में आक्रोश व्याप्त है.
सोशल मिडिया में वायरल विडियो और विभाग का पक्ष जानने के दौरान केड्रा विभाग के कार्यपालन अभियंता ने पुरे मामले का ठिकरा ग्रामीणो के उपर डालते हुये बताया कि ग्रामीण को पुरा समय बिजली चाहिये, प्लांट का दोहन कर रहे है रात दिन चला रहे है इसलिये बैटरी खराब हो रहे है. कुछ बचाकर रखे गये है बैटरी जो आवश्यकता पडने पर लगाया जाता है- विजय कुमार, कार्यपालन अभियंता केड्रा विभाग.