Top Stories

न्यायिक अभिरक्षा में न्यायालय के सामने पत्रकार पर हमला….खुलेआम दी जान से मारने की धमकी…हा मैं गुंडा बदमाश हूँ..कोई कुछ उखाड़ नही सकता….

न्यायिक अभिरक्षा में न्यायालय के सामने पत्रकार पर हमला….खुलेआम दी जान से मारने की धमकी…हा मैं गुंडा बदमाश हूँ..कोई कुछ उखाड़ नही सकता….

राजेश सोनी

अम्बिकापुर. न्यायालय के सामने न्यायिक अभिरक्षा में पुलिस कस्टडी में रहे पत्रकार पर एक गुंडे ने हमला कर दिया किसी तरह पुलिसकर्मियों ने बचाव कर हमलावर को भगाया. मामला अम्बिकापुर न्यायालय के सामने घटित हुआ. भारत सम्मान के संपादक जितेंद्र कुमार जायसवाल जो सूरजपुर जिला जेल में बंद है 7 अपराध सरजपुर,बलरामपुर सहित सरगुजा जिले में दर्ज है मंगलवार को पेशी के लिए पुलिसकर्मियों ने अम्बिकापुर न्यायालय लाया था और उसके उपरांत जब न्यायालय के पिछले गेट निकलते ही मजहर नामक गुंडे ने हमला कर दिया,अचानक हुए हमले से पुलिस कर्मियों ने जितेंद्र को सुरक्षित कर उसे दूर किया लेकिन हमलावर खुले आम न्यायालय के सामने पुलिस के समक्ष गाली गलौज कर जान से मारने की घमकी देने लगा. हालांकि पूरे मामले को जानकारी न्यायाधीश को देने पर उन्होंने कोतवाली थाने में अपराध दर्ज करने को कहा. कोतवाली थाना में अपराध दर्ज करने के बजाए शिकायत तक नही लेने पर वापस सूरजपुर जेल लाया गया. खुले आम गाली गलौज धमकी देने की वीडियो मौजूद लोगो ने बनाये है. जिसमे हमलावर पुलिस के सामने खुले आम गाली देते हुए जान से मारने की घमकी दे रहा. गौरतलब है कि हमलावर वही गुंडा बदमाश है जो रेलवे स्टेशन पर गुंडा गर्दी कर अवैध वसूली के आरोप में जेल गया था जिसका समाचार जितेंद्र ने प्रमुखता से छापा था.

गुंडे बदमाशो का सहारा 

अम्बिकापुर शहर में कौन नही जानता गुंडे बदमाशो को किसका संरक्षण प्राप्त है नेता मंत्री संतरी की जरूरत बने गुंडे उत्पात मचा रहे है खुले आम बीच शहर पुलिस के कस्टडी में न्यायालय के सामने जान से मारने की घमकी देकर हमला कर रहे. यह वही मजहर है जो पत्रकार जितेंद्र कुमार जायसवाल के गिरफ्तार होने पर पुलिस की जयकार कर फूल माला से सम्मान किया था. आधुनिक युग मे जब छटे हुए गुंडे बदमाश व उनके गुर्गे सार्वजनिक रूप से पुलिस का जयकारा करने लगे तो समझा जा सकता की क्या चल रहा.फिलहाल जितेंद्र सुरक्षित है और उसने सभी जिम्मेदार अधिकारियों को पत्र लिखकर देने की बात कही है.