मनरेगा लोकपाल मनोज पांडेय की शिकायत

अंबिकापुर-सरगुजा के मनरेगा लोकपाल की शिकायत मुख्यमंत्री, राज्यपाल सहित मुख्य सचिव से… भ्रष्टाचारकरने का लगाया आरोप.. आरटीआई कार्यकर्ता डीके सोनी ने लिखित शिकायत  मुख्यमंत्री, राज्यपाल, मुख्य सचिव, कमिश्नर, कलेक्टर, सहित अन्य लोगो को किया गया शिकायत में  आरोप लगाया गया है कि मनरेगा लोकपाल मनोज पांडेय के द्वारा भ्रष्ट अधिकारीयो से मिली भगत कर के शिकायत प्रमाणित होने के बाद भी दो बार स्थल निरीक्षण किया जाता था एक बार मे शिकायत प्रमाणित होता हैं  और दूसरी बार जांच में शिकायत गलत हो जाता है,  कयोकि दूसरी बार मे लोकपाल सेट हो जाते है। डीके सोनी ने अपने सभी शिकायत आवेदनों की सुनवाई स्थगीत करने के संबंध में आवेदन दिनाक 20.04.18व 23.04.18 को दिया गया था लेकिन भ्रष्ट लोकपाल के द्वारा प्रकरण को स्थगीत न करते हुए जांच चालू रखा गया और वैमनस्यता वश गलत आदेश कर डीके सोनी के विरुद्घ अर्थदण्ड लगाया गया है जबकि उक्त शिकायत की भी मांग की गई, अगर किसी न्यायालय के न्यायाधीश के ऊपर आरोप लगता है तो उस न्यायाधीश को प्रकरण की सुनवाई नही करनी चाहिए। लेकिन यह भ्रष्टाचार के लालच में आकर मनरेगा लोकपाल द्वारा गलत तरीके से आदेश किया जा रहा, शिकायत में मनरेगा लोकपाल को हटाने की मांग की गई है तथा किसी अन्य लोकपाल से शिकायत की जांच कराने का निवेदन किया गया है।