विश्व एडस दिवस पर कार्यक्रम का आयोजन…रोकथाम बचाव सुरक्षित रहने के बताये उपाये…

सरगुजा. कौशल विकास और उद्यमिता मंत्रालय भारत सरकार के दिशनिर्देशानुसार जन शिक्षण संस्थान सरगुजा,(छ.ग.) में आज जन शिक्षण संस्थान के सभागार में विश्व एडस दिवस पर कार्यक्रम का आयोजन किया गया. जिसमें मुख्य अतिथि विकास पाण्डेय ब्लड बैंक प्रभारी अम्बिकापुर, विशिष्ट अतिथि हिमांशु सोनी इकाई प्रभारी सी.बी.सी.फ्ल्डि आउट रीच ब्यूरो अम्बिकापुर साथ ही एम सिद्दीकी निदेशक जन शिक्षण संस्थान सरगुजा, अजय कुमार कुजूर की उपस्थिति की गई. कार्यक्रम की रूपरेखा प्रस्तुत कर एम सिद्दीकी ने कहा कि एचआईवी एक तरह का वायरस है जो हमारे खून में जाकर सफेद रक्त कोशिकाओं को नष्ट कर देता है। बता दें दुनियाभर के किसी भी देश में एड्स का इलाज मौजूद नहीं है। यदि समय रहते इसका इलाज ना करवाया जाए, तो व्यक्ति अपनी जान गंवा सकता है इसी तारतम्य मे विकास पाण्डेय ब्लड बैंक प्रभारी अम्बिकापुर के द्वारा भी एच.आई.वी. संक्रमण के बारे में विस्तार पूर्वक बताया और कहा कि सावधानी ही बचाव है इसे मेडिकल भाषा में हयूमन इम्यूनोडेफिशिएंसी वायरस यानि एच.आई.वी. के नाम से जाना जाता है। हिमांशु सोनी ने एच.आई.वी. संक्रमण के बारे में विस्तार रूप से बता कर उनकी कैसी रोकथाम करनी चाहिए उसके बारे में बताया गया। यह व्यक्ति के रोगप्रतिरोधक क्षमता पर हमला करता है। जिसकी वजह से सामान्य बीमारियों से लड़ने में सक्षम नहीं हो पाता है। इससे बचाव ही सुरक्षित रहने का एकमात्र उपाय है। विश्व एडस दिवस पर जन शिक्षण संस्थान के प्रशिक्षणार्थियों के मध्य पेंटिग प्रतियोगिता एवं निबंध प्रतियोगिता का भी आयोजन किया गया। जिसमें निबंध प्रतियोगिता में प्रथम स्थान गीता यादव, द्वितीय कमलावती दास, तृतीय सोनम सोनकर, एवं सोनाकक्षी साहू रहीं। साथ ही पंटिग प्रतियोगिता में प्रथम स्थान सुमन भगत, द्वितीय आरती गोस्वामी, तृतीय में सीता एवं राजिया नाज ने स्थान प्राप्त किया। कार्यक्रम का आभार एवं समापन सुश्री स्नेह लता ठाकुर के द्वारा किया गया।जन शिक्षण संस्थान सरगुजा एडस दिवस के अवसर पर ब्लड बैंक के अजय कुमार कुजूर, हरिहर सिंह, मास्टर ट्रेनर श्रीमती वंदना मानिकपुरी, विवेक सिंह, रमेश यादव, राकेश रोशन खाखा, जगेश्वर  एवं जन शिक्षण संस्थान के प्रशिक्षार्थी उपस्थित थे।