जानिए आखिर क्यों  नगर पालिका उपाध्यक्ष सहित पार्षदों ने किया सामान्य सभा का बहिष्कार

बैकुण्ठपुर-जिला मुख्यालय नगर पालिका बैकुंठपुर में सामान्य सभा का बहिष्कार कर दिया गया। नगर पालिका के उपाध्यक्ष सुभाष साहू के साथ, पार्षद भानु पाल, गुलाब गुप्ता, भरत गुप्ता, राजेश नायक, परमजीत कौर, शैलेश गुप्ता, अर्चना गुप्ता, पार्वती सिंह, आशा राजवड़े, श्याम बाई राजवड़े, राजेश राजवड़े, पवन राजवड़े सहित एल्डरमेन फिरदौस अहमद, परवेज आलम, लक्ष्मी प्रसाद गुप्ता अनिल खटीक ने नगर पालिका की सामान्य सभा का बहिष्कार कर दिया, सभी कहना है कि अध्यक्ष समय का ध्यान नहीं रखते है। एक घंटे बाद वो बैठक में पहुंचे, सिर्फ जनता से जुड़े 3 मुद्दों पर ही सहमति बनी। अध्यक्ष का कहना है सभी मुद्दों पर चर्चा होगी।
उपाध्यक्ष सुभाष साहू का कहना है कि नपा अध्यक्ष राम मंदिर तालाब के गहरीकरण को लेकर विवाद बना हुआ है। गहरीकरण में जितना बोला गया उतना खोदा नही गया है। पार्षद भानु पाल का कहना है कि सामान्य सभा की बैठक को लेकर नपा सजग नही है। अभी तक ढाई साल में 11 बैठक हुई है।जबकि दो महीने में एक बार बैठक होना ही चाहिए।
उन्होंने बताया की वर्ष भर पहले नदी किनारे पौधा रोपण का पता नहीं चला। सब्जी मंडी में फर्शी करण होना था, वो कार्य अभी तक नही हुआ है। गर्मी में पानी वितरण का टेंडर अपने रिश्तेदारों को दे दिया गया जिसकी जानकारी किसी को नही है, 3 महीने में लगभग 6 लाख का बिल बन गया। पार्षद गुलाब गुप्ता का कहना है कि उनके कहने पर रमेश अग्रवाल और गुलडुम जी ने अपना टैंकर पानी वितरण डीज़ल सहित निशुल्क दिया था।
सभी ने आरोप लगाया कि बिना पूछे एजेंडा बनाया जाता है। जबकि एजेंडा बनाने के पूर्व सभी की सहमति लेना जरूरी है ऐसा नहीं किया जाता है। हर दो महीने में बैठक होना चाहिए।
वही नपा अध्यक्ष अशोक जायसवाल ने बहिष्कार की बातो को ख़ारिज करते हुए कहा की सामान्य सभा का बहिष्कार नही हुआ है। एजेंडा ठीक है नही होने की वजह से ७ दी का समय दिया गया है। एजेंडा बनने के 7 दिन बाद बैठक का आयोजन पुनः किया जाएगा।